Dard Bhari Bewafa Shayari

0
109

Dard Bhari Bewafa Shayari

Dard Bhari Bewafa Shayari – Hello Guys if you are looking for Sad Shayari, Bewafa Shayari and sad shayari etc. Then you are in right place in this post you can get Best Dard Bhari Bewafa Shayari. So Welcome to all.

Dard-Bhari-Bewafa-Shayari
Dard Shayari

ए-मुसाफिर
ये प्यार का आशियाना बहुत बड़ा है,
तुम इसमें कहां समाओगे,
प्यार की मंजिलों को खोजते खोजते तुम खुद मिट्टी में मिल जाओगे।।

Aye – Musafir
Yeh pyar ka ashiyana bahut bada hai,
Tum isme kahan smaaoge,
Pyar ki manzilo ko khojte khojte tum khud mitti mein mil jaaoge.

(Dard Bhari Bewafa Shayari)
Dard-Bhari-Bewafa-Shayari
Dard Bhari Bewafa Shayari

वो हमें फिर से मनाने अाई है,
पिछली यादो को फिर से जगाने अाई है,
और हम निकलने ही वाले थे इश्क़ के समंदर से,
वो हमें फिर से डुबाने अाई है।।

Dard Bhari Bewafa Shayari

Dard-Bhari-Bewafa-Shayari
Bewafa Dosti Shayri

जरूरी नहीं कि आसमान में चांद है तो सितारे भी हों,
तुम जिसे अपना कहते हो वो बस तुम्हारे ही हों,
और मोहब्बत तो ऐसी चीज है जनाब ,
जिसमें फूल भी हों और अंगारे भी हों।।

Zaroori nahi ki aasman mein chand hai, to sitaare bhi ho,
Tum jise apna kehte ho wo bas tumhare hi ho,
Aur mohobbat to aisi chiz hai janab,
Jisme phool bhi ho aur angaare bhi ho.

Dard Bhari Bewafa Shayari

Dard-Bhari-Bewafa-Shayari
Bewafa Hindi Shayari

सुना है वो हमें दिल से भुलाए बैठे हैं,
रकीब के लिए अपने आप को सजाए बैठे हैं,
अपनी तरफ से तो हमें पूरी तरह जलाय बैठे हैं,
अरे कोई जाकर कह दो उन्हें की हम भी उनका नाम दिल के पन्नों से मिटाए बैठे हैं।।

Bewafa Shayari

Dard-Bhari-Bewafa-Shayari
Bewafa Shayari Hindi Images

समझना समझाना क्या है मुझे मै सब जानता हूं,
ईश्वर, अल्लाह, प्रभु सभी को मानता हूं,
बस 1 शिकवा है मुझे ज़िंदगी से,
कि क्यूं ये लोग दिखावा करते हैं जिनको मै रग रग से जानता हूं

Samjhna samjhaana kya hai mujhe, main sab janta hu,
Ishwar, Allah, Prabhu sabhi ko mein maanta hu,
Bas 1 shikwa hai mujhe zindagi se,
Ki kyun ye log dikhawa karte hai, jinko mein rag rag se jaanta hu.

Dard Bhari Bewafa Shayari

Dard-Bhari-Bewafa-Shayari-with-images
Dard Bhari Shayari

कलम उठाऊ और तेरा तकियाकलाम लिख दूं क्या,
तेरी मेरी मोहब्बत का अंजाम लिख दूं क्या,
और शायद ही मुक्कमल हों हमारी मोहब्बत,
तेरे मेरे बीच रब का नाम लिख दूं क्या ।।

Kalam uthau aur tera tamiyakalam likh du kya,
Teri meri mohobbat ka anjaam likh du kya,
Aur shayad hi mukkamal ho hamaari mohobbat,
Tere mere beech rab ka naam likh du kya.

Shayari-With-images
Dard Bhari Bewafa Shayari

यूं पानी से आग ना तुम बढ़ाया करो,
ना यू धीरे धीरे इतने करीब आया करो,
लोगो का दिल होता है मोहतरमा,
किसी के दिल में तो टिक जाया करो।।

Yun paani se aag na tum badhaya karo,
Na yun dheere dheere itbe karib aaya karo,
Logo ka dil hota hai Mohtarama,
Kisi ke dil mein to tik jaya karo.

Dard Bhari Bewafa Shayari
Dard-Shayari
Dard Shayari

मोहब्बत करने वालों तुम्हारे इश्क़ के पहरेदार कोन है,
तुम्हारे इश्क़ में चलाक और समझदार कोन है,
इसने,उसने, मैंने , तूने , सबने कहा कि वो बेवफ़ा है,
तो जाना वफादार कोन है।।

Mohobbat karne walo tumhare ishq ke pahredaar kaun hai,
Tumhare ishq mein chlaak aur samjhdar kaun hai,
Isne, usne, mene, tune, sabne kaha ki wo Bewafa hai,
To jana wafadar kaun hai.

Dard Bhari Shayari

dard-bhari-shayari
Dhoka Shayari

उसका आइना टूटा है फिर कैसे वो अपने आप को पहचान लेती है,
ना जाने केसे सबके आगे अपने आप को ढाल लेती है,
और यूं तो मुझे पूरा विश्वास है अपनी मोह्बत पे,
लेकिन ना जाने क्यूं जब मै पीछे से उसकी आंखे बंद करू हर बार वो किसी और का नाम लेती हैं।

Uska aaina tuta hai phir kaise wo apne aap ko pehchan leti hai,
Na jaane kaise sabke aage apne aap ko dhal leti hai,
Yun to mujhe pura vishwas hai apni mohobaat pe,
Lekin na jaane kyun jab mein piche se uski aankhein band karu har baar wo kiso aur ka naam leti hai.

Dard Bhari Bewafa Shayari

Bewafa Shayari

तकदीर की लकीरों सें,
इश्क़ की जंजीरों से,
जोहरी की हीरो से,
और इश्क़ करने के बाद मालूम हुआ कि तुम भी हों फकीरों से।।

Takdeer ki lakeero se,
Ishq ki jhanjeero se,
Johari ki heero se,
Aur Ishq karne ke baad maloom hua ki tum bhi ho fakeero se.

Dard-Bhari-Bewafa-Shayari
Bewafa Dosti Shayari

वक़्त बुरा हैं तो किस्मत को बेकार क्यूं कहे,
दिल दोनों ने लगाया सिर्फ उसे बेवफ़ा खुद्दार क्यूं कहे,
बस एक बार मिलकर गलती जरूर बताना,
फिर तुम अपनी जगह खुश रहो हम अपनी जगह खुश रहें।।

Wakt bura hai to kismat ko bekar kyun kahen,
Dil dono ne lagaya sirf use Bewafa khud daar kyu kahen,
Bas ek baar milkar galti jaroor batana,
Phir tum alni jagah khush raho ham apni jagah khush rahen.

Dard Bhari Bewafa Shayari

statusvouge
Bewafa Sms Hindi

तुम दिल्ल्लगी करते तो तुम्हे पता होता,
कि कही गई हर बात एक्स के लिए नहीं होती,
और इश्क़ की इस दुनिया में मोहबब्त-ए-फितूर भी कुछ होता है,
हर किसी की मोहहबत सेक्स के लिए नहीं होती।।

Tum dillagi karte to tumhe pata hota,
Ki kahi gai har baat Ex ke liye nahi hoti,
Aur ishq ki is Duniya mein Mohobbat-Ae-Fitoor bhi kuch hota hai,
Har kisi ko mohobbat sex ke liye nahi hoti.

Bewafa Shayari

shayari-love
Bewafa Sanam Shayari

आज देखना है किसकी जान जाएगी,
मै उसकी ओर वो मेरी कसम खाएगी,
और अंजाम ये होगा इस मोहहबत का,
1 तरफ जश्न होगा और दूसरे की रूह कांप जाएंगी।।

Aaj dekhna hai, kiski jaan jaayegi,
Mein uski aur wo meri kasam khayegi,
Aur anjam ye joga is mohobaat ka,
Ek taraf jasahn hoga aur dusre ki rooh kaamp jaayegi.

Dard Bhari Bewafa Shayari

shayari
Dard Bhari Bewafa Shayari Hindi

तुमसे दिल्लगी करके गुनाह किया हमने,
हर दर्द को अपने अंदर ही छुपा लिया हमने,
और ये भी सितम जब उनका चेहरा आया सामने,
अपने गिरे हुए अश्कों को उठा लिया हमने।।

Tumse dillagi karke gunah kiya hamne,
Har dard ko apne andar hi chupa liya hamne,
Aur ye bhi sitam jab unka chehra aaya samne,
Apne gire hue ashko ko utha liya hamne.

(Dard Bhari Bewafa Shayari)
statusvouge
Bewafa Shayari Hindi Images

अभी तो दिन भी नहीं ढला और तुम रात पूछते हो,
जिस्म से खेल के जात पुछते हो,
और तुम्हें तो सच्चा इश्क़ था ना हमसे,
फिर क्यूं अब मेरी औकात पूछते हो।।

Abhi to din bhi nahi dhala aur tum raat puchte ho,
Jism se khel ke jaat puchte ho,
Aur tumhe to sachha ishq tha na hamse,
Phir kyun ab meri aukat puchte ho.

Dard Bhari Bewafa Shayari With Images

Dard-Bhari-Bewafa-Shayari
Bewafa Sad Shayari

लाओ बतलाओ मुझे तुम्हारे बगीचे मे गुलाब कितने है,
तुम्हारी जिन्दगी म शबद कित्ने है,
बहुत नशा नशा करते हो,
लाओ दिखलाओ मुझे तुम्हारे महकाने में शराब कितनी है।

Laao batlao mujhe tumhare bagiche mein gulab kitne hai,
Tumhari zindagi mein shabd kitne hai,
Bahut nasha nasha karte ho,
Laao dikhlaao mujhe tumhare mehkane mein shraab kitni hai.

(Dard Bhari Bewafa Shayari)
bewafa-sanam-shayari
Sad Shayari

वक़्त नहीं लगता बातें बनाने में
सालों बीत जाते हैं रिश्ते बनाने में
और कभी वक़्त मिले इस मुश्किल वक़्त में
तो सोचना उन लम्हों को जो लगे अपना वक़्त बनाने में।।

Wakat nahi lagta baate banane mein,
Saalo beet jaate hai rishte banane mein,
Aur kabhi wakat mile is mushkil wakt mein,
To sochna un lamho ko jo lage apna wakat banane mein.

Dard Bhari Bewafa Shayari

shayari-images
Sad Shayari Hindi

इश्क़ का परिंदा उड़ गया
पर सांसे अभी बाकी हैं
क्या कहा यमराज मुझे लेने आया है
आने दो, उसके लिए तो मेरी मां का आंचल ही काफ़ी है।।

Ishq ka pareenda ud gaya,
Par saanse abhi baki hai,
Kya kha yamraj mujhe lene aaya hai,
Aane do uske liye to meri maa ka aancha hi kaafi hai.

ये मोहब्बत-ए इश्क़ तो चलते जाएंगे
पेपर लिखने ना कोई तेरे दोस्त आएंगे
किताबे,नोट्स जो कुछ भी है पढ़ ले
वरना “YOU HAVE TO BE REAPPEARED” वाले रिज़ल्ट आएंगे।।

Yeh mohobaat-e-ishq to chalte jayenge,
Paper likhne na koi tere dost aayenge,
Kitabe, notes jo kucj bhi padh le,
Warna YOU HAVE TO BE REAPPEARED wale result aayenge.

Bewafa Dosti Shayari

Dard Bhari Bewafa Shayari

यू ही तो आंखो में आंसू आए होंगे,
कुछ तुमने और कुछ प्रयास तो हमने भी लगाए होंगे,
और शायद ना होता ये सितम कोइ तो होगा जिसने ये कड़वे बीज लगाए होंगे।

Yun hi to aankho mein aansoo aaye honge,
Kuch tumne aur kuch hamne paryas to hamne bhi lagaye honge,
Aur shayad na hota ye sitam koi to hoga jisne ye kadve beej lagaye hoge.

वक़्त नहीं लगता बातें बनाने में
सालों बीत जाते हैं रिश्ते बनाने में
और कभी वक़्त मिले इस मुश्किल वक़्त में
तो सोचना उन लम्हों को जो लगे अपना वक़्त बनाने में।

Wakt nahi lagta baate banane mein,
Saalo beet jaate hai rishte banane mein,
Aur kabhi wakt mile is mushkil wakt mein,
To sochna un lamho ko jo lage apna wakt banane mein.

हम तो मज़ाक में भी किसी को दर्द देने से डरते है,
ना जाने लोग कैसे दिलो से खेल जाते है।

Hum to mazak mein bhi kisi ko dard dene se darte hai,
Na jane log kaise dilo se khel jaate hai.

वो जो अपना था हमसे है खफा,
पता नही किस से हुई थी खता,
बेवजह दिल नही टूटा किसी का,
तुम थे या हम थे बेवफा।

Wo jo apna tha humse hai khafa,
Pta nahi kis se hui thi khata,
Be-wajah dil nahi toota kisi ka, tum the ya hum the bewafa.

Dard Bhari Bewafa Shayari

कलम उठाऊ और तेरा नाम लिख दूं क्या,
तेरी मेरि मोहोब्बत का अंजाम लिख दू क्या,
शायद ही मुक्कमल हो हमारी मोहोब्बत,
तेरे मेरे बीच रब का नाम लिख दूं क्या।

Kalam uthau aur tera naam likh dun kya,
Teri meri mohobbat ja anjam likh du kya,
Shayad hi mukamal ho hamari mohobbat,
Tere mere beech rab ka naam likh du kya,

अक्षर भी नही सूख पाते अखबार के,
के नये मामले सामने आ जाते है बलत्कार के,
देश को जरूरत है सिखने कुछ सत्कार की,
और द्र्निंदो को सजा ए मौत स भी बड़ी फटकार की।

Dard Bhari Bewafa Shayari

Akshar bhi sukh paate akhbar ke,
Ke naye mamle samne aa jaate hai balatkar ke,
Desh ko jaroorat hai sikhne kuch satkar ki,
Aur darindo ko SAZA-E-MAUT se bhi badi fatkar ki.

Wo hame phir se manane aai hai,
Pichli yaado ko phir se jagane aai hai,
Aur ham nikalne hi wale the ishq ke samandar se,
Wo hame phir se dubaane aai hai.

Suna hai wo hame dil se bhulaye baithe hai,
Rakeeb ke liye apne aap ko sajaye baithe hai,
Apni taraf se to ham puri tarah jalaye baithe hai,
Aray koi jaakar keh do unhe ki ham bhi unka naam dil ke panno se mitaye baithe hai.

Dard Bhari Bewafa Shayari

Have A Nice Day Thank You

You May Also Like:

Follow Us On -> Instagram To Get All Status Images Download

Dard Bhari Bewafa Shayari

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here